Sarso Mandi Bhav: नई सरसों आने के बाद सरसों मंडियों में रेट में आई मंदी, सरसो के बढ़ने की कितनी उम्मीद

Sarso Mandi Bhav:- नई सरसों आने के बाद सरसों मंडियों में रेट में आई मंदी, सरसो के बढ़ने की कितनी उम्मीद, किसान साथियों नई सरसों मंडियों में आना शुरू हो गयी है। ऐसे में किसानों में सरसों भाव को लेकर काफी चिंता बनी हुई है। क्योंकि पिछले साल से ही सरसों के भाव काफी निचले स्तर पर चल रहे हैं। आप जानते हैं सरसों की तेज़ी मंदी रिपोर्ट 2024। सरसों का भविष्य क्या रहेगा। क्या इस साल सरसों में आएगी तेज़ी। इन सभी बातों को जानने की कोशिश करेंगे।

सरसों मंडियों की बाजार की रिपोर्ट

आपको बता दे कि किसान साथियों काफी राज्यों में नई सरसों की आवक मंडियों में शुरू हो चुकी है। फिलहाल नई सरसों बेचने वाले किसानों को निराशा ही हाथ लगी है। क्योंकि भाव मंदी की तरफ बढ़ा है। पिछले सप्ताह का जयपुर का सरसों का भाव देखा जाए तो 5525 रुपए प्रति क्विंटल पर बाजरा खुला था। लेकिन शनिवार की मंडी मार्केट नजर डालें तो यह घटकर 5400 प्रति क्विंटल के कारोबार पर बंद हुआ। फिलहाल नई सरसों मार्केट में आने से सरसों के भाव में गिरावट दर्ज हुई है। नई सरसों की कुल आवक 2.50 लाख बोरियों की हुई। वही कल सरसों की आवक 5 लाख बोरियों को पार कर चुकी है।

Read More: Rose Cultivation: गरीबी से निकाल कर अमिर बना देगा यह फूल, होगी कम समय में दोगुनी कमाई, जाने खेती की सम्पूर्ण जानकारी

तेल की मात्रा बहुत ही सामान्य

बता दे कि मंडियों में नई सरसों की आवश्यकता शुरू हो गई है लेकिन अगर इसमें तेल की मात्रा देखी जाए तो यह काफी सामान्य है जिसके चलते भाव ज्यादा नहीं मिल रहे हैं। उम्मीद है कि जैसे की मौसम में परिवर्तन होगा तो यह बेहतरीन होगा। सरसों का निर्यात जनवरी के महीने में 67% प्रतिशत गिर चुका है। फिलहाल यह 71472 टन रह गया है।

 

Leave a Comment