Rose Cultivation: गुलाब की खेती करके किसान कमा सकते है तगड़ा पैसा, गुलाब की खेती से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी

Rose Cultivation:- आप भी फूलों की खेती कर के अच्छे खासे पैसे कमाना चाहते है। तो गुलाब की खेती का व्यवसाय किसानों के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद रहेगा। गुलाब सभी फूलों का राजा के नाम से जाना जाता है। और यह एक बहुत ही सुंदर फूल होता है। इसकी खेती काफी ज्यादा जगह की जाती है। और समय – समय पर इसकी डिमांड भी काफी ज्यादा होती है। तो इसकी खेती से किसान अच्छे पैसे कमा सकते है। जानते है इसकी खेती के बारे में,

खेती के लिए कैसी चाहिए जलवायु

दुनिया भर में उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय मौसम गुलाब की खेती करना अच्छा रहता है। 15 डिग्री सेल्सियस से 28 डिग्री सेल्सियस के बीच गुलाब की खेती तकनीकी तौर कर सकते है।

Read More: Siwani mandi bhav: चना मंदा, बाजरा, ग्वार, मोठ, चना, गेहूँ, सरसों समेत मंडी के लेटेस्ट भाव जाने यहां

खेती के लिए उपयुक्त मिट्टी

गुलाब की खेती के लिए पीएच मान 6 से 7.5 के बीच की होना अच्छा रहता है। गुलाब के पौधे उच्च कार्बनिक पदार्थों वाली रेतीली दोमट मिट्टी में अच्छी तरह से विकसित किये जा सकते है। और इनमें ऑक्सीजन की मात्रा भी काफी ज्यादा होतृ है।

गुलाब की खेती करने का सही तरीका

गुलाब की खेती करने के लिए सबसे पहले उसकी कलम को लगाया जाता है। लेकिन अधिकांश किसान बीज का उपयोग करके गुलाब की खेती कर रहे है। गुलाब की खेती के लिए सबसे पहले खेत की जुताई करना ज्यादा अच्छा रहता है। खेत में पौधे लगाने से पहले चार से छह सप्ताह पहले ही नर्सरी में गुलाब की बीज की बुआई कर दी जाती है।

Read More: Sourav Ganguly’s Daughter: सारा तेंदुलकर को भी पीछे छोड़ती है सौरव गांगुली की बेटी, खूबसूरती और सादगी से लगा रही लोगों के दिलों में आग

गुलाब के बीज की बुवाई के लिए गड्ढों या क्यारियों में 60 से 90 सेंटीमीटर गहरा और 60 से 90 सेंटीमीटर गहरा गड्डा कर के इसकी खेती की जाती है। उसके बाद सिंचाई करना जरुरी होता है।

फूलों की कटाई और तगड़ी कमाई

जब फूल को चमकीले रंग की पंखुड़ियां मिल जाएं। पहले वर्ष में गुलाब के पौधे फूलने के लिए अच्छी तरह से तैयार हो जाते है। और दूसरे वर्ष में आपको इस गुलाब के फूलों की खेती से अच्छी पैदावार मिलती है। मार्च में 45 से 50 दिनों की छंटाई के बाद फूल आने लगते है। फूल पौधे पर 40 दिन तक रहते है। कटाई के बाद गुलाब के फूलों को पानी में डाला जाता है। और फिर इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है।

Leave a Comment