Mandi Bhav: गेहूं की MSP खरीद जल्द होने जा रही है शुरू, बेचने से पूर्व जान ले कुछ नियम, जिससे बाद मे ना हो परेशानी

Mandi Bhav:- गेहूं की MSP खरीद जल्द होने जा रही है शुरू, बेचने से पूर्व जान ले कुछ नियम, जिससे बाद मे ना हो परेशानी, सरकार के द्वारा गेहूं की MSP रेट को बढ़ा दिया गया है। इसके बाद किसानों को अच्छे भाव मिलने की उम्मीद है। गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य पिछले साल के मुकाबले इस साल अधिक कर दिया गया है। अच्छी पैदावार होने की भी संभावना बताई जा रही है। गेहूं के लिए पंजीकरण शुरू हो चुका है। जो किसान साथी अपनी गेहूं की फसल को सरकारी रेट पर बेचना चाहते हैं वह गेहूं का पंजीकरण करवा ले।

गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य कितना बढ़ा है ?

आपको बता दे कि किसान साथियों सरकार के द्वारा गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य एमएसपी रेट की घोषणा कर दी गई है। पिछले वर्ष साल 2023 में गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2125 रुपए प्रति क्विंटल था। इस वर्ष 2024 -25 का गेहूं का समर्थन मूल्य 2275 रुपए कर दिया गया है। इस नए न्यूनतम समर्थन मूल्य एमएसपी रेट पर सरकार के द्वारा खरीद की जाएगी। इस वर्ष पिछले वर्ष के मुकाबले एमएसपी रेट 150 रुपए प्रति कुंटल का अधिक होगा।

Read More: Millet cultivation: बाजरे की खेती किसानों को कर देगी मालामाल, जाने इसकी खेती के लिए सही मौसम और तरीका क्या है ?

यह भी संभावना बताई जा रही है कि गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य एमएसपी रेट पर फसल बेचने के बाद सरकार के द्वारा इस साल एमसी रेट के बाद किसानों को बोनस भी दिया जा सकता है।

गेहूं की फसल का पंजीकरण हुआ शुरू

बता दे कि इस वर्ष पिछले साल के मुकाबले गेहूं की सरकारी खरीद जल्द ही शुरू की जाएगी। सूत्रों के मुताबिक 25 मार्च से गेहूं की सरकारी खरीद शुरू कर दी जाएगी। फिलहाल पंजीकरण का पोर्टल ओपन हो चुका है। जो किसान साथी सरकारी खरीद पर गेहूं को बेचना चाहते हैं वह अपनी गेहूं की फसल का पंजीकरण अवश्य कर ले। क्योंकि बिना पंजीकरण के सरकारी खरीद पर अपना गेहूं नहीं बेच सकेंगे।

Leave a Comment