Improved Variety Of Moong: गर्मी के मौसम में करें इस दलहनी फसल की खेती, होगी बंपर पैदावार के साथ तगड़ी कमाई

Improved Variety Of Moong: गर्मी के मौसम में करें इस दलहनी फसल की खेती, होगी बंपर पैदावार के साथ तगड़ी कमाई। कई किसान साथियों के द्वारा मूंग की फ़सल की बिजाई की जाती है। क्योंकि कई राज्यों में पानी जहां उपलब्ध है। वहा किसानों के द्वारा बिजाई की गई मूंग की फ़सल बोनस के रूप में काम करती है। किसान गेहूं या सरसों की फ़सल की कटाई करने के बाद किसान मूंग की फसल की बिजाई का विकल्प चुनते हैं।

Read More: Kota Mandi Bhav Today: गवार, अलसी, बाजरा, गेहूं, धान, लहसुन, सोयाबीन, सहित आज के मंडी भाव जानें

मूंग की सबसे बेहतरीन किस्म?

किसान साथियों सरसो कटाई और गेहूं की कटाई के बाद मूंग और उड़द की बिजाई करके मुनाफा लेना किसानों के लिए एक बोनस के रूप में काम करता है। इसके लिए मूंग की अच्छी किस्म की वेराइटी की बिजाई करना काफी अहम हो जाता है। मूंग की अच्छी किस्मों में पूसा 1431 , 9531 पूसा, 672 पूसा, पूसा विशाल, मूंग पूसा रतना, सम्राट , सूर्या आईपीएम 302, 2, मेहा, 268आरएमजी, 2328केएम, 344 आरएम प्रमुख वैरायटी है।

मूंग की बिजाई किस समय करें

किसान साथियों मूंग की बिजाई करना प्रमुख समय सही समय पर करना जरूरी है। यह बिजाई करने का सही समय 10 मार्च से 10 अप्रैल तक का समय होता है। मूंग की 60 से 65 दिन में पक कर तैयार होने वाली किस्मों के चयन कर सकते हैं।

बिजाई करने के लिए 20 से 25 किलोग्राम मूंग का बीज पर्याप्त माना जाता है। पौधे की पंक्ति में पोधे की दूरी 30 सेंटीमीटर होनी चाइए। बुआई करने के लिए किसान प्रमाणित बीजों का ही उपयोग करें।

Leave a Comment