Cotton Farming: कपास की खेती किसानों को कर देगी निहाल, देखते ही देखते बन बैठोगे धन्ना सेठ, जाने कपास की खेती की सम्पूर्ण जानकारी

Cotton Farming:- कपास की खेती किसानों को कर देगी निहाल, देखते ही देखते बन बैठोगे धन्ना सेठ, जाने कपास की खेती की सम्पूर्ण जानकारी, आजकल हर कोई पारम्परिक खेती को ना करके व्यवसायिक खेती की और अपने कदम बढ़ा रहे है ऐसा इसलिए क्योकि इसके जरिये कम समय में ज्यादा उत्पादन प्राप्त हो सकता है और इससे हमे तगड़ी कमाई प्राप्त हो सकती है। आइए कपास की खेती से जुड़ी कुछ अहम बातें आपकों बताते है।

कपास के लिए उचित जलवायु

देश भर में कपास की खेती उष्णकटिबंधीय एवं उपोष्णकटिबंधीय इलाकों में ज्यादातर की जाती है। कपास की खेती के लिए निम्नतम तापमान लगभग 21 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान लगभग 35 डिग्री सेल्सियस सबसे अच्छी कही जाता है, कपास की खेती सबसे पहले तो महाराष्ट्र और राजस्थान राज्यों करते थे। किसान कपास की खेती करके अच्छा-खासा मुनाफा कमा सकते है।

Read More: PM Kishlan Yojna 16th installment: प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की 16वी क़िस्त पर आया बड़ा अपडेट, जांचे अपना स्टेटस

कपास की खेती कैसे की जाती है?

कपास की खेती के लिए सबसे उपयुक्त बलुई दोमट मिटटी और काली मिट्टी कही जाती है, वही कपास की बुवाई मानसून के साथ ही शुरू कर दी जाती है, लेकिन अगर आप कपास की फसल से ज्यादा उपज और कमाई करना चाहते हो तो आप को इसके बीजो की बुवाई मई महीने में कर सकते है और तगड़ा पैसा कमा सकते है।

कपास की खेती से तगड़ा मुनाफा

कपास की उन्नत किस्मों की बुवाई अगर आप मई के महीने में कर लेते है तो कपास की चुनाई नवंबर से फरवरी तक आसानी कर सकते है। हाइब्रिड किस्मों की अक्टूबर से जनवरी एवं बीटी किस्मों की अक्टूबर से फरवरी तक ही की जाती है। कपास की उन्नत किस्में प्रति हेक्टेयर 20 से 22 क्विंटल, हो जाती हो और इसके अलावा संकर किस्मों की 15 से 18 क्विंटल एवं बीटी किस्मों की 22 से 24 क्विंटल तक उत्पादन दे सकती है। आप कपास की खेती के जरिये तगड़ा मुनाफा कमा सकते है।

Leave a Comment