Coriander Cultivation: धनिया की इन किस्मो की खेती से किसान हो रहे मालामाल, कम लागत में तगड़ी कमाई, देखे पूरी खबर

Coriander Cultivation:- धनिया की इन किस्मो की खेती से किसान हो रहे मालामाल, कम लागत में तगड़ी कमाई, देखे पूरी खबर, आपकी जानकारी के लिए बता दे की बहुत से किसान भाई ऐसे भी है जो अधिक मुनाफा कमाने के लिए गेहू और चने की फसलों के आलावा नगदी फसलों की खेती भी कर मुनाफा कमा रहे है। यदि आप भी कम समय में अच्छी कमाई करना चाहते है आपके लिए धनिया की खेती सबसे बेहतर विकल्प साबित हो सकती है। आज हम आपको धनिया की कुछ उन्नत किस्मो के बारे में बताने जा रहे है। जिसकी खेती कर आप तगड़ा मुनाफा कमा सकते है। आइये जानते है पूरी जानकारी।

जानिए धनिया की कुछ टॉप किस्मो के बारे में

GC 2 धनिया किस्म

आपकी जानकारी के लिए बता दे की यदि आप भी हरा पत्तेदार धनिया के लिए खेती कर रहे है, तो आपके लिए GC 2 किस्म सबसे बेहतर साबित हो सकती है। यह फसल पत्तेदार होने पर लगभग 60 दिनों में तैयार हो जाती है। और यदि बाजार में अच्छा रेट है तो आपको इसको बेच कर लाभ कमा सकते है। साथ ही आपको बता दे की की किस्म के बीज 110 दिन में पककर तैयार हो जाते है. साथ ही अगर हम इसके उत्पादन की बात करे तो यह किस्म प्रति एकड़ 6 क्विंटल तक का उत्पादन दे सकती है।

हिसार खुशबू धनिया किस्म

यदि आप सुगंधित और हरे पत्ते वाले धनिया की खेती करने के बारे में सोच रहे है तो आपके लिए धनिया की हिसार खुशबु किस्म बेहतर साबित हो सकती है। यह किस्म बुआई के 120 से 125 दिन में पककर तैयार हो जाती है। साथ ही इसके पौधों का आकार भी मीडियम साइज का होता है। वही इसके दानो की बात करे तो यह मध्यम आकार के होते है। वही अगर हम इस किस्म के उत्पादन की बात करे तो यह 7.5 से 8.4 क्विंटल प्रति एकड़ तक पैदावार दे सकती है।

Read More: Malaika Arora: 48 की उम्र में इस हसीना ने अपने हॉट लुक का दिखाया जलवा, दिलकश अदाओ के सामने जाह्नवी-सारा भी पड़ी फीकी, देखे तस्वीरें

RCR 41 धनिया किस्म

आपकी जनकारी के लिए बता दे की आजकल बाजार में हरे धनिया की मांग काफी बढ़ गई तो आप आप की RCR 41किस्म की बुवाई आपके लिए फायदे का सौदा साबित हो सकता है। यह किस्म बुवाई के लगभग 60 दिनों के भीतर तैयार हो जाती है, जिसे आप पाटीदार रूप में बेच सकते है। और यह फसल पूर्णतय पककर लगभग 130 से 140 दिन में तैयार होती है। बता दे की इसके फूलो का रंग गुलाबी और दाने का आकर काफी छोटा होता है। वही उत्पादन की बात करे तो यह किस्म 8 क्विंटल प्रति एकड़ तक की पैदावार दे सकती है।

पंत हरितमा धनिया किस्म

यदि आप साबुत धनिया नहीं बल्कि हरे पत्तेदार धनिया की खेती करने के बारे में सोच रहे है तो आपकी जानकारी के लिए बता दे की आपको धनिया की पंत हरितमा किस्म की खेती सबसे ज्यादा बेहतर साबित हो सकती है ,यह किस्म हरी पत्तियों और दानों दोनों के लिए उपयुक्त है. यह किस्म एक एकड़ खेत में लगभग 6 से 8 क्विंटल तक का उत्पादन दे सकती है। आप भी इन सभी किस्मो में से किसी एक किस्म की खेती कर अच्छा मुनाफा कमा सकते है।

Read More: Mandi News Neemuch: आज का नीमच मंडी भाव 05 मार्च 2024, गेहूं, चना, सरसों, सोयाबीन समेत मंडी का ताजा रेट

धनिया की खेती से होगा तगड़ा मुनाफा

अगर हम इसकी खेती में होने वाले मुनाफे के बारे में बात कर रहे तो आपकी जानकारी के लिए बता दे की धनिया के बुवाई के लगभग 40 से 50 दिनों में बेचने लायक हो जाता है। ऐसे में अगर आप धनिया के मसालों के अलावा इसे हरे धनिए के रूप में भी बाजार में बेचते हैं तो इससे तगड़ी कमाई की जा सकता है। एक अनुमान के अनुसार, अगर आप 2 बीघा जमीन में धनिए की खेती करते हैं तो हर साल लगभग 3 लाख का मुनाफा कमाया जा सकता है। वहीं हर दिन आप बाजार के भाव से धनिया बेचकर 2 हजार रुपए तक कमा सकते हैं।

Leave a Comment